Home Cricket हार्दिक पांड्या में उमरान मलिक को आख़िरी ओवर क्यों दिया? खुद कप्तान...

हार्दिक पांड्या में उमरान मलिक को आख़िरी ओवर क्यों दिया? खुद कप्तान ने बताई इसकी वजह !

हार्दिक पांड्या की कप्तानी वाली भारतीय टीम ने मंगलवार को बेहद करीब से टी20 सीरीज का दूसरा मुकाबला अपने नाम कर लिया। भारत ने ये मुकाबला आयरलैंड से सिर्फ 4 रनो के अंतर से जीता।

भारत ने डबलिन के मैदान में सीरीज के दूसरे मुकाबले में आयरलैंड के सामने विशालकाय 226 रनो का स्कोर खड़ा किया। जिसे आयरलैंड की टीम ने आखरी ओवर तक अपने लक्ष्य का पीछा किया और हार नहीं मानी।

लक्ष्य का पीछा कर रहे आयरलैंड के बल्लेबाज़ों ने बाउंड्री के हर तरफ शॉट्स लगाए, और लक्ष्य के बेहद करीब आ गए थे। अब आयरलैंड को जीत के लिए आखरी ओवर में सिर्फ 17 रन चाहिए थे।

वही दूसरी ओर भारतीय टीम के कप्तान भी अपनी जीत के लिए पूरी तैयारी कर रहे थे। पांड्या ने बताया, की उन्होंने मुकाबले का आखरी और महत्वपूर्ण ओवर टीम के युवा गेंदबाज उमरान मालिक को क्यों सौंपा?

मैच खत्म होने के बाद पांड्या ने बताया, की मैं अपने समीकरण से मैच का सारा दवाब दूर रखने की कोशिश कर रहा था। मैं वर्तमान में रहना चाहता था, इसलिए मैने उमरान मालिक को बैक किया।

उनके पास गति है, और तेज गति वाली गेंदों के साथ 1 ओवर में 17.18 रन बनाना हमेशा मुश्किल होता है। उन्होंने कुछ बहुत अच्छे शॉट्स खेले काफी शानदार बल्लेबाजी भी की। उन्हे इसका श्रेय दिया जाना चाहिए और हमारे गेंदबाजों को उनका हौसला बनाए रखने का श्रेय देना चाहिए।

दोस्तो अगर उमरान मालिक के आखरी ओवर की बात करे, तो उन्होंने कुछ प्रकार से आखरी ओवर में अपना कमाल दिखाया।

0, नो बॉल, 4 (फ्री हिट), 4, 1, बाय 1, 1,

टोटल – 12 रन

28 साल के इस कप्तान ने आयरलैंड में खेलने और भारतीय फैंस का सपोर्ट मिलने के बारे में भी बात कही, और फैंस को धन्यवाद करते हुए पांड्या ने कहा उनके पसंदीदा खिलाड़ी दिनेश कार्तिक और संजू सैमसन थे। क्योंकि उनके लिए फैंस बहुत ज्यादा चीयर कर रहे थे।

कप्तान ने कहा, की फैंस के पसंदीदा खिलाड़ी दिनेश और संजू सैमसन थे। दुनिया के इस कोने का अनुभव करना शानदार है। हमारे लिए बहुत सपोर्ट आता है, हम उनका मनोरंजन करने की कोशिश करते हैं और आशा करते हैं कि हमने ऐसा किया भी। सभी का धन्यवाद जिन्होंने हमारा सपोर्ट किया।

उन्होंने बताया, की एक बच्चे के रूप में अपने देश के लिए खेलना हमेशा एक सपना होता है। टीम का नेतृत्व करना और जीत हासिल करने का अनुभव बहुत खास था। और अब सीरीज जीतना भी बेहद खास है, दीपक और उमरान मालिक के लिए मैं बहुत खुश हूं।

मुकाबले में अगर आयरलैंड टीम के बल्लेबाजों की बात की जाए तो एंड्रयू बलबर्नी ने 60 रन, पॉल स्टर्लिंग ने 40 रन और हैरी टैक्टर ने 39 रनो की महत्वपूर्ण पारियां खेली।

हालाकि ये महत्वपूर्ण पारियां आयरलैंड के किसी काम नही आई, और आखरी ओवर में भारत ने आयरलैंड के मुंह से जीत छीनकर 4 रनो से मुकाबला अपने नाम कर लिया और सीरीज को 2.0 से क्लीन स्वीप कर विजेता बनी।

पहले बलेबाज़ी करते हुए भारत की तरफ से दीपक हुड्डा ने 104 रनो की शानदार पारी को अंजाम दिया वही दूसरी ओर संजू सैमसन ने 77 रनो की दमदार पारी खेली, जिसके दम पर भारत ने 225/7 का स्कोर खड़ा किया।

हालाकि आयरलैंड की टीम बेहद करीब पहुंचने के बाद जीत हासिल करने में असमर्थ रही और हार गई। आयरलैंड ने 221/4 का स्कोर बना लिया था लेकिन आखरी ओवर में भारत ने बाजी अपने नाम कर ली।

इसी जीत के साथ अब भारत ने इस सीरीज को 2.0 से अपने नाम किया। शानदार बल्लेबाजी करते हुए दुनिया की नंबर 1 टी20 टीम के खिलाफ आखरी गेंद तक मैच को ले जाने वाली आयरलैंड टीम को भी इस सीरीज में बहुत से पॉजिटिव पॉइंट्स मिले है।