Home Cricket जानिए कौन हैं रजत पाटीदार जो मेगा ऑक्शन में रहे अनसोल्ड, अब...

जानिए कौन हैं रजत पाटीदार जो मेगा ऑक्शन में रहे अनसोल्ड, अब लखनऊ के खिलाफ़ जड़े 112* रन !

आईपीएल के एलिमिनेटर मुकाबले में लखनऊ सुपर ज्वाइंट्स और आरसीबी की टीम एक दूसरे के आमने सामने भिड़ी थी। जहां आरसीबी के खिलाड़ी रजत पट्टीदार ने अपना शानदार शतक पूरा करने के साथ ही टीम को मजबूत आंकड़ों तक पहुंचाया।

इस मुकाबले में रजत पट्टीदार ने 112 रनो की विधवंशक पारी खेली। और अपना शतक पूरा करने के लिए छक्के का इस्तेमाल किया।

रजत ने अपनी बेहतरीन पारी के दौरान 11 चौके और 6 छक्के लगाए थे। रजत की इस जोरदार पारी के बाद सोशल मीडिया में हर तरफ उन्ही की चर्चाएं की जा रही है। वही दूसरी ओर टीम के समर्थक उन्हे आरसीबी की पारी को संभालने के लिए शुक्रिया अदा कर रहे है।

बता दे, की रजत पट्टीदार का जन्म 1 जून 1993 को मध्य प्रदेश के इंदौर में हुआ था। रजत एक बिजनेस फैमिली के रहने वाले है। जानकारी के लिए बता दे, की रजत 8 साल की उम्र से ही क्लब क्रिकेट खेलने में माहिर है।

काफी छोटी उम्र में ही उनके दादा जी ने उन्हे क्रिकेट अकादमी में भर्ती करवाया था। क्रिकेट में रजत ने अपनी शुरुवात बतौर तेज़ गेंदबाज के रूप में को थी, लेकिन अंडर फिफ्टीन खेलने के बाद उन्होंने अपना थोड़ा ध्यान बल्लेबाजी पर भी दिया।

रजत में अपने कोच के कहने पर बल्लेबाजी पर ज्यादा फोकस किया। जो उनके लिए काफी अच्छा फैसला साबित हुआ। एक इंटरव्यू के दौरान रजत ने बताया था, की क्रिकेट में उनके सबसे पसंदीदा खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर है, और सचिन को देखकर ही रजत ने क्रिकेट खेलना शुरू किया था। हालाकि उनके अलग अलग फॉर्मेट में अलग अलग आइडल है, उन्हे फुटबॉल भी काफी पसंद आता है।

क्रिकेट को बरकरार रखते हुए रजत ने साल 2015.16 में रणजी ट्रॉफी के लिए फर्स्ट क्लास डेब्यू किया था। वही दूसरी ओर उन्होंने 2017.18 में जोनल टी20 लीग में मध्य प्रदेश की तरफ से 20.20 की शुरवात की। इतना ही नहीं बल्कि रणजी ट्रॉफी में ये खिलाड़ी 2018.19 में सबसे ज्यादा रन बनाने के मामले में नंबर टॉप पर रहे थे। बाद में उन्हें 2019.20 में दिलीप ट्रॉफी के किए भारतीय ब्लू टीम में हिस्सा बनाया गया था।

वही आखिर में फरवरी 2021 में रजत को आरसीबी ने खरीद लिया था। इस दौरान उन्होंने अपने करियर का पहला आईपीएल मुकाबला आईपीएल डेब्यू 9 अप्रैल 2021 को मुंबई इंडियंस के खिलाफ चिदंबरम स्टेडियम में किया था। और तब से लेकर आज तक रजत किसी के रोके से नही रुक। और लगातार आगे बढ़ते जा रहे है।