Home Cricket ‘भगवान नही, इंसान हैं वो भी..’, विराट और रोहित के फॉर्म पर...

‘भगवान नही, इंसान हैं वो भी..’, विराट और रोहित के फॉर्म पर सौरव गांगुली ने दिया बड़ा बयान !

बीसीसीआई के अध्यक्ष सौरव गांगुली ने मंगलवार को ये बयान जारी किया की रोहित शर्मा और पूर्व कप्तान विराट कोहली का खराब फॉर्म चिंता वाला विषय नहीं है, वे बहुत जल्द क्रिकेट में वापसी करेगे। बता दे, की आईपीएल को 5 बार विजेता टीम मुंबई इंडियंस के लिए ये आईपीएल बेहद खराब तरीके से आगे बढ़ा। जहां टीम ने 14 मुकाबलों में मात्र 4 में जीत हासिल की। मुंबई इंडियंस इस बार अंकतालिका में सबसे निचले स्थान में विराजमान थी।

एक कार्यक्रम के जरिए सौरव गांगुली ने कहा, की हर कोई इंसान ही है, और इंसान से गलतियां होती है। लेकिन बतौर कप्तान रोहित का रिकॉर्ड काफी बढ़िया है। 5 बार आईपीएल खिताब, एशिया कप विजेता और उन्होंने जहां भी कप्तानी की है, वहां झंडे गाड़े है। कप्तान के रूप में उनका योगदान बिलकुल सही था, लेकिन अगर गलतियां हुई है, तो वे जायज है, क्योंकि वे भी एक इंसान है।

वही कोहली के बारे में बात करे, तो आईपीएल के लीग चरण के आखरी मुकाबले से पहले कोहली के लिए भी आईपीएल का ये सीजन काफी मुश्किलों से भरा था। केकेआर के खिलाफ अर्धशतक लगाने के पहले कोहली के हाथो मात्र 13 पारियों में 236 रन ही आ पाए थे। Im पारियों के दौरान वे 3 बार बिना खाता खोले ही पवेलियन गए थे।

दोनों का समर्थन करते हुए, गांगुली ने कहा, वे बहुत अच्छे खिलाड़ी हैं।मुझे यकीन है कि दोनों रनों बनाना शुरू करेंगे। वे इतना क्रिकेट खेलते हैं कि कई बार अपने फॉर्म को ही भूल जाते है, पिछले मैच में कोहली ने बेहतरीन प्रदर्शन दिया था, आरसीबी के लिए ये उनका सबसे बढ़िया प्रदर्शन रहा।

इस आईपीएल में ऋषभ पंत को लेकर भी कई बाते सामने आई जहां वे डीआरएस के विषय को लेकर काफी सुर्खियों में आए थे। हालाकि इसके बावजूद बीसीसीआई में उनका सपोर्ट किया। उन्होंने बताया, के पंत की तुलना धोनी से न करे। क्योंकि धोनी के पास उनसे ज्यादा अनुभव है। उन्होंने टेस्ट और वनडे मिलाकर लगभग 500 से ज्यादा मैचों में विकेटकीपर की भूमिका निभाई है। इसलिए धोनी के साथ ऋषभ पंत की तुलना करना जायज नहीं है।

इसके अलावा बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने सनराइजर्स हैदराबाद के तेज गेंदबाज उमरान मालिक की तारीफ में कहा, की अगर ये गेंदबाज अपनी फिटनेस इसी तरह बरकरार रखेगा। तो राष्ट्रीय टीम में इसके आगे तक बने रहने की उम्मीदें ज्यादा है।