Home Cricket ‘मैं सचिन को हर हाल में चोटिल करना चाहता था, और मैं...

‘मैं सचिन को हर हाल में चोटिल करना चाहता था, और मैं सफल भी रहा’, शोएब अख्तर का बड़ा खुलासा !

क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर और रावलपिंडी एक्सप्रेस नाम से मशहूर शोएब अख्तर के बीच हमेशा से रायवलरी रोमांच देखने को मिलता रहता था। और अक्सर इनके बीच टकराव मनमुटाव भी देखा जाता था।

जहां एक तरफ दुनिया का सबसे तेज गेंदबाज था, तो वही दूसरी ओर सबसे बेहतरीन बल्लेबाज था। इस दौरान रविवार को शोएब अख्तर ने एक ऐसा ही किस्सा सुनाया।

46 के हो चुके पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने कहा, की एक बार वे सचिन तेंदुलकर को जानबूझ के चोटिल करना चाहते थे। और उनके सामने बार बार बाउंसर गेंद फेक रहे थे। हालाकि इस दौरान वे सचिन को तो चोटिल नही कर पाए लेकिन इस चीज का फायदा मोहम्मद आसिफ को जरूर मिला था।

सचिन जब तक खेले विरोधी गेंदबाजों पर हावी ही रहे। हर गेंदबाज उनका विकेट लेना चाहता था। सचिन को आउट करना इतना आसान भी नहीं था।

ऐसे में 2006 के टेस्ट में शोएब जब सचिन को आउट नहीं कर पा रहे थे तो सचिन को चोटिल करने के पीछे पड़ गए। उन्होंने सचिन के हेलमेट में बॉल भी मारी। लेकिन, सचिन ने अपने सिर को बचा लिया।

एक वेबसाइट को दिए एक खास तरह के इंटरव्यू में शोएब अख्तर ने इस 16 साल पुरानी बात के बारे में चर्चा करते हुए कहा, की उस दिन मेरे सर पर खून सवार था। बात 2006 के भारतीय टीम के पाकिस्तान दौरे की है।

दोनो टीमों के बीच कराची में तीसरा टेस्ट मैच खेला जा रहा था। और मैं सचिन को मारने के मकसद से गेंदबाजी कर रहा था।

रावलपिंडी एक्सप्रेस ने बताया, की आज से पहले इस बात की चर्चा मैने पहले कभी नही की। मैं हर हाल में उन्हे जख्मी करना चाहता था। और उस दिन मेरा मकसद मात्र उन्हे चोटिल करना ही था। उस दौरान मेरे दिमाग में उनका विकेट नही बल्कि इंजरी चल रही थी।

लेकिन इंजमाम मुझे लगातार विकेट के सामने गेंद फेकने के रहे थे। तब मैने सचिन के हेलमेट पर भी गेंद मारी और मुझे लगा काम हो गया। लेकिन सचिन ने कैसे भी करके खुद को बचा लिया।

शोएब की इस आक्रामक गेंदबाजी का फायदा मोहम्मद आसिफ को मिला था। शोएब की गेंदबाजी से भारतीय बैट्समैन बैकफुट पर थे।

इसका जवाब इरफान पठान ने अपनी गेंदबाजी से दिया था। उसी टेस्ट में इरफान ने शुरुआती तीन बॉल पर लगातार तीन विकेट चटकाते हुए हैट्रिक ली थी। उन्हें ओपनर सलमान बट्ट और अपनी तकनीक के लिए मशहूर यूनिस खान, मोहम्मद यूसुफ का विकेट मिला था।

बता दे, की इस मुकाबले में सचिन का विकेट अब्दुल रज्जाक ने हासिल किया था। इस मुकाबले में भारत ने 321 रनो जैसे बड़े स्कोर से मुकाबला गवाया था। पहली पारी में सचिन मात्र 28 गेंदों में 23 रन ही बना पाए थे। तब अब्दुल रज्जाक ने उनका विकेट ले लिया था।

दूसरी पारी के दौरान भी उनका बल्ला खामोश रहा। दूसरी पारी में वे आसिफ के हाथो पवेलियन गए थे। बता दे, की आसिफ ने एक इंटरव्यू के दौरान कहा था, की शोएब अख्तर के बाउंसर का सामना करते समय सचिन तेंदुलकर की आंखे बंद हो जाती थी।