Home Cricket राजस्थान अब भी ले सकता हैं गुजरात से हार का बदला, इस...

राजस्थान अब भी ले सकता हैं गुजरात से हार का बदला, इस तरह मिलेगा फाइनल का टिकट, जानें पूरा समीकरण

आईपीएल की नई टीम गुजरात टाइटंस ने पहली बार ही आईपीएल में आकर जिस तरह का खेला दिखाया है, वो काबिले तारीफ था। दोस्तो गुजरात टाइटंस के आंकड़े को देखकर तो यही लग रहा है, की गुजरात टाइटंस इस बार आईपीएल का खिताब सभी टीमों से छीनकर ले जायेगी।

लेकिन अगर ऐसा नही भी होता है, तो आईपीएल में पहली बार खेलकर सभी टीमों को पीछे छोड़ना भी गुजरात के लिए किसी ट्रॉफी से कम नहीं है। मंगलवार 24 मई को क्वालीफायर के पहले मुकाबले में भी टीम ने टॉस जीतकर राजस्थान को बल्लेबाजी करने का आमंत्रण दिया।

राजस्थान की तरफ से ऑपनिंग करने वाले खिलाड़ी जॉस बटलर ने 56 गेंदों में 89 रनो की शानदार पारी को अंजाम दिया, इस दौरान उनके बल्ले से 12 चौके और 2 छक्के भी देखने को मिले। जॉस की इस दमदार पारी के दम पर राजस्थान की टीम ने बोर्ड पर 6 विकेट के नुकसान पर 188 रन खड़े कर दिए।

दूसरी पारी में गुजरात टाइटंस लक्ष्य का पीछा करने आई, जहां डेविड मिलर और कप्तान हार्दिक पांड्या ने अहम भूमिका निभाई। डेविड ने पारी के दौरान 68 रन 38 गेंदों में बनाए। इस बीच डेविड के बल्ले से 3 चौके और 5 छक्के भी बाहर आए।

वही कप्तान हार्दिक पांड्या ने 27 गेंदों में नाबाद 40 रनो की धुआधार पारी खेली, और उन्होंने 5 चौके भी लगाए। डेविड और हार्दिक की इस दमदार पारी के चलते गुजरात टाइटंस ने इस मुकाबले को 19.3 ओवर में ही हासिल कर लिया। मिलर ने अपनी पारी की शुरुवाती 3 गेंदों में ही 3 जबरदस्त छक्के लगाए।

दोस्तो इन सब के बीच सबसे अच्छी बात ये है, की राजस्थान के पास गुजरात से बदला लेने का एक और बेहतरीन मौका है। जिसमे ये टीम क्वालीफायर 1 का बदला गुजरात से ले सकती है। जी हां ऐसा हो सकता है, की आईपीएल का फाइनल मुकाबला इन्ही दोनो टीमों के बीच हो।

बता दे, की आईपीएल का एलिमिनेटर मुकाबला आज कोलकाता में लखनऊ सुपर ज्वाइंट्स और आरसीबी के बीच खेला जाना है। जो भी टीम आज का मैच अपने नाम करेगी, राजस्थान एक बार फिर से उसके साथ क्वालीफायर 2 का मैच पूरा करेगी।

और जो टीम इस मुकाबले में जीत गई, उसे सीधे फाइनल में जाने का मौका मिलेगा। और अगर क्वालीफायर 2 में राजस्थान जीत गई, तो एक बार फिर से संजू सैमसन अपनी हार का बदला गुजरात के हार्दिक से ले सकते है।

आपको बताना चाहेंगे, की इस मुकाबले में गुजरात को पहला झटका पहले ही ओवर में रिद्धिमान साहा के रूप में लगा जब साहा बिना खाता खोले पवेलियन गए। साहा के बाद क्रीज पर मैथ्यू वेड और शुभमन का जादू देखने मिला, जहां पावर प्ले में ही दोनो ने मिलकर 64 रनो की साझेदारी करते हुए टीम को बेहतरीन शुरुवात दिलाई। हालाकि इसके बाद आठवें ओवर में शुभमन गिल ने बड़ी गलती कर दी और वे रन आउट होकर पवेलियन चले गए।

गिल के जाने के कुछ ही समय बाद मैथ्यू वेड भी आउट हो गए। लेकिन इनके बाद क्रीज पर हार्दिक और डेविड मिलर उपस्थित हुए। जहां से दोनो ने अपनी टीम को बेहतरीन तरीके से संभाला। हालाकि शुरुवात में दोनो खिलाड़ी काफी धीमी गति से आगे बढ़ रहे थे। लेकिन पांड्या ने अपनी बल्लेबाजी में कोई कमी न करते हुए अपनी खतरनाक पारी से टीम का रन रेट करीब 10 का बनाए रखा।

दूसरी ओर जन डेविड मिलर ने हार्दिक की पारी देखी फिर उन्होंने भी राजस्थान के गेंदबाजों पर कहर बरसाना शुरू कर दिया। और हार्दिक के पहले मिलर ने ही 35 गेंदों में 50 रनो की पारी को अंजाम दिया। और इस तरह से खेलते हुए दोनो खिलाड़ियों ने 10 ओवरों में 106 रनो की दमदार साझेदारी की।

इससे पहले कोलकाता के ईडन गार्डंस पर जब गुजरात के कप्तान हार्दिक पंड्या ने टॉस जीतने के राजस्थान को बल्लेबाजी के लिए कहा तो संजू सैमसन के चेहरे पर कोई खास परेशानी नहीं दिखी। ऐसा इसलिए कि इस सीजन राजस्थान ने लीग राउंड में जो नौ मुकाबले जीते उनमें सात जीत उसे पहले बल्लेबाजी करते हुए मिली थी। हालांकि शुरुआत अच्छी नहीं रही और दूसरे ओवर में ही यशस्वी जायसवाल आउट हो गए। उनकी जगह उतरे संजू ने पहली ही गेंद पर सिक्स लगाकर खाता खोला। पावरप्ले में संजू ने कुल 13 गेंदें खेलीं और इस दौरान जो 30 रन बनाए वह सभी फोर और सिक्स से आए।

राजस्थान की पारी की बात करे, तो संजू सैमसन ने बहुत बढ़िया शुरुवात की, उन्होंने अपनी पारी के दौरान कुछ ही रन भागकर लिए बाकी सारे रन उनके बल्ले से चौके और छक्के के रूप में बाहर आए। और 27 गेंदों में 47 रनो की पारी खेल डाली हालाकि सामने गेंदबाजी करने आए साई किशोर ने उनकी पारी को ज्यादा बड़ा नहीं बनने दिया। उनके बाद देवदत्त क्रीज पर आए और उन्होंने भी शुरुवात से ही जबरदस्त बल्लेबाजी करना शुरू कर दिया और 20 गेंदों में 28 रन बनाए। हालाकि इस दौरान बटलर काफी शांत रहे।

लेकिन 14वे ओवर में जैसे ही देवदत्त आउट हुए बटलर ने रफतार पकड़ी और रन बनाने शुरू किए। 17वे ओवर में बटलर ने यश दयाल के ओवर में 4 चौके जड़ दिए थे और 42 गेंदों में अपना अर्धशतक पूरा किया। बटलर ने शानदार प्रदर्शन किया। और उनकी दमदार पारी की बदौलत आखरी के 4 ओवरों में राजस्थान की टीम 60 रन जोड़ने में सफल हुई। और 188 का आंकड़ा खड़ा किया।