Home Cricket महेला जयवर्धने की बड़ी भविष्यवाणी, बोले- ‘जो रुट से नंबर 1 का...

महेला जयवर्धने की बड़ी भविष्यवाणी, बोले- ‘जो रुट से नंबर 1 का ताज़ छीन लेगा ये खिलाड़ी’

इंग्लैंड टेस्ट टीम के पूर्व कप्तान जो रूट इस समय शानदार फॉर्म में चल रहे है। आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप के मौजूदा संस्करण में सबसे ज्यादा रन बनाने के साथ इस साल उनके बल्ले से भी रन देखने मिले है।

इतना ही नहीं बल्कि बल्कि क्रिकेट के सबसे लंबे फॉर्मेट में उनके बल्ले से 927 रन बाहर आए है। यही कारण है, की 2021 में आईसीसी टेस्ट प्लेयर ऑफ द इयर का अवॉर्ड जीतने के साथ टेस्ट रैंकिंग में पहले पायदान पर है।

मगर अब श्रीलंका के पूर्व कप्तान महेला जयवर्धने ने उस बल्लेबाज का नाम बताया, जो आने वाले समय में रूट को पीछे छोड़कर टेस्ट रैंकिंग में पहला स्थान हासिल कर सकते है।

महेला जयवर्धने ने आईसीसी रिव्यू के शो में कहा, की काफी कठिन है। मैं कहूंगा की बाबर आजम के पास एक अवसर है। वे तीनों फॉर्मेट में लगातार अच्छा खेल रहे है। और ये उनकी रैंकिंग में दिखाई देता है।

स्वाभाविक रूप से वे एक प्रतिभाशाली क्रिकेटर है। सभी परिथितियो में खेलते है, उनके पास खेल को अनुकूलित करने के लिए भी है।

ये क्रिकेट मैच की संख्या पर निर्भर करता है, की कब, कौन और कितना खेल रहा है। लेकिन बाबर वह शख्स हो सकता है।

वर्ल्ड क्रिकेट में बाबर आजम ही एकमात्र ऐसे खिलाड़ी है, जो तीनो फॉर्मेट की आईसीसी रैंकिंग के टॉप 3 में है। वही टी20 और वनडे में बाबर पहले स्थान पर मौजूद है। वही टेस्ट क्रिकेट में वे रूट और मार्नस लबूशेन के बाद तीसरे नंबर पर है।

जयवर्धने ने कहा, टी20 और एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैचों में टिके रहना मुश्किल है क्योंकि कई अच्छे खिलाड़ी हैं जो निरंतर अच्छा खेलते हैं।

वह ऐसा लंबे समय तक कर सकता है क्योंकि पाकिस्तान सेटअप में उनके इर्द गिर्द खेलने के लिए कई बल्लेबाज हैं, जिस वजह से वह अपना खेल खेल सकते हैं।

उसे इस पर टिके रहना होगा और साथ ही बेतरह होने के लिए खुद को आगे बढ़ाना होगा। उन्होंने आगे बताया, की उन्होंने श्रीलंका में वास्तव में अच्छी बल्लेबाजी की है।

मेरे हिसाब से प्रभात ने उन्हे कड़ी टक्कर दी है। प्रभात ने उन्हे 4 पारियों में से 3 बार आउट किया है। ये देखने के लिए एक बहुत अच्छी लड़ाई थी।

बाबर ने पहले टेस्ट मैच में एक शानदार शतक लगाया था। वे हमेशा खुद को बेहतर बनाने के लिए आगे बढ़ते रहते है। हाल ही में अपने कुछ साक्षात्कारों में देखा गया, की टेबल पर नंबर 1 होने भी उनका लक्ष्य है।

वहां पहुंचने के लिए खुद को चुनौती देने में कोई बुराई नहीं है। कप्तान होने के नाते भी उन्होंने जिम्मेदारी ली है, और प्रदर्शन किया है। जो देखने में काफी अच्छा था।

ये आसान काम नही है, मैं तीनो फॉर्मेट में टॉप करने के लिए कम से कम थोड़ी देर के लिए उस पर अपना पैसा लगाऊंगा लेकिन कुछ अच्छे क्वालिटी वाले खिलाड़ी भी है, जो उसे टक्कर देते रहेंगे।