Home Cricket TV पर एक IPL मैच दिखाने के खर्च होंगे 49 करोड़ रुपये,...

TV पर एक IPL मैच दिखाने के खर्च होंगे 49 करोड़ रुपये, जानिए आईपीएल मीडिया राइट्स से जुड़ी बड़ी बातें !

आईपीएल 2022 अभी कुछ ही दिन पहले समाप्त हुआ है। लेकिन अब आईपीएल 2023 की बाते शुरू हो गई है। आईपीएल को लेकर एक बड़ी खबर सामने आई है। दरअसल अगले सीजन के लिए आईपीएल मीडिया राइट्स की नीलामी होना है।

और ये नीलामी 2023 से 2028 तक के लिए होना तय है। और खबरों के मुताबिक माना जा रहा है, की आईपीएल राइट्स के लिए इस बार की बोली 50 से 60 हजार करोड़ रुपए तक पहुंच सकती है।

बताना चाहेंगे, की आईपीएल मीडिया राइट्स के लिए टेंडर pehe se जारी कर दिए गए थे। और 5 कंपनियों ने इसमें अपना नाम शामिल किया था।

जिसका मतलब है, की इस बार बीसीसीआई को बड़ी मात्रा में फायदा होने वाला है। हालाकि पिछले बार जब नीलामी हुई थी, तो क्या आप जानते है, की बीसीसीआई के पास कितना पैसा आया था, अगर नहीं जानते तो आइए इस बारे में जानते है।

दोस्तो पिछले बार जब साल 2018 से 2022 तक के लिए नीलामी की गई थी, इस समय भी बीसीसीआई को अच्छा खासा फायदा हुआ था।

इस नीलामी में बीसीसीआई के पास 16300 हजार करोड़ रुपए आए थे। हालाकि इस बार बीसीसीआई के पास इससे कई ज्यादा रकम आना तय है।

नीलामी की कुछ महत्वपूर्ण और बड़ी बाते

  1. क्रिकबज रिपोर्ट के अनुसार 4 पेकेज के लिए नीलामी होगी, जिसमे भारतीय उपमहाद्वीप के टीवी, भारतीय उपमहाद्वीप के डिजिटल प्लेटफार्म, भारतीय डिजिटल के लिए स्पेशल पैकेज, और शेष विश्व शामिल है।

2. बीसीसीआई इस बार इस नीलामी के लिए वर्चुअल वर्कशॉप और मॉक ऑक्शन कराने जा रही है। ताकि मीडिया राइट्स हासिल करने में लगी कंपनिया इस प्रक्रिया के बारे में जान सके।

3. टीवी राइट्स के लिए नीलामी 49 करोड़ रुपए से शुरू होगी। वही डिजिटल राइट्स के लिए 33 करोड़ रुपए से नीलामी का शुरू होना माना जा रहा है। और एक बार को बोली लगने के बाद अगली बोली तक के लिए लगभग 30 मिनट तक का समय दिया जाएगा।

इसके अलावा नीलामी करने वालो को हर एक मैच के हिसाब से अपने आंकड़े बताने पड़ेगी, नाकि प्रति सीजन या 5 सालो तक के लिए।

दोस्तो आईपीएल 2022 में हमे 10 टीमें देखने मिली थी, और अब अगले सीजन भी ऐसा ही होगा। जिसके चलते आईपीएल की ब्रांड वैल्यू में भी बढ़ोतरी होना तय है।

10 टीमों के मैदान में आने के बाद से आईपीएल में रोमांच दोगुना होने की उम्मीद थी, हालाकि इतनी टीमों के साथ ये सीजन कुछ ऐसा खास नहीं था। इस सीजन की टीआरपी में बड़ी मात्रा में गिरावट देखने मिली थी।

लेकिन अब बीसीसीआई के सामने सबसे बड़ी चुनौती ये है, की अगले सीजन में बीसीसीआई आईपीएल को टीआरपी में इजाफा लाए। अब हमे देखना ये है, की नीलामी में किस कंपनी को जेब खाली होती है, और बीसीसीआई की जेब कितनी गरम होती है।