Home Cricket दूसरे T20 मैच में टीम इंडिया के साथ हुआ धोखा, अफ्रीकी बल्लेबाज़ों...

दूसरे T20 मैच में टीम इंडिया के साथ हुआ धोखा, अफ्रीकी बल्लेबाज़ों के साथ अंपायर भी भूले नियम

दोस्तो भारत और साउथ अफ्रीका के बीच टी20 सीरीज का दूसरा मुकाबला कटक के मैदान में खेला जा चुका है, जहां पहले मुकाबले की तरह एक बार फिर से भारत को 4 विकेट से हार का सामना करना पड़ा।

लेकिन इस मुकाबले के बाद ऐसा लग रहा है, की साउथ अफ्रीका टीम के खिलादी रासी वेन डर डूसेन काफी चर्चित रहेगे। दिल्ली में पहले मुकाबले के चलते उन्होंने शानदार पारी खेलकर साउथ अफ्रीका को जीत दिलाई थी।

दूसरे मुकाबले में भी उन्होंने कमाल की फील्डिंग तो की है हालाकि बल्लेबाजी में कुछ खास कमाल नहीं कर पाए इसके बावजूद वे काफी ज्यादा चर्चाओं में है।

लेकिन अब ऐसा होने के पीछे उनकी गलती थी या अंपायर की इस बात की जानकारी फिलहाल अभी पूरी तरह साफ नहीं हुई है।

लेकिन एक बात तो है, की इसके चलते एक बार फिर से रासी चर्चाओं में जरूर आ गए है। दरअसल दोस्तो ये मामला एक ऐसे नियम के अनदेखी से जुड़ा हुआ है जो हाल ही में बदलाव में लाया गया है।

दोस्तो आइए सीधे असलियत के बारे में जानते है। ये घटना साउथ अफ्रीका के पारी के तीसरे ओवर में हुई थी। भुवनेश्वर कुमार ने अपने इस ओवर की पांचवी गेंद पर ड्वेन प्रिटोरियस का विकेट चटकाया था।

पिछले मैच की ही तरह एक बार फिर से ड्वेन खुद को साबित करने में नाकाम साबित हुए और सस्ते में आउट होकर चले गए। भुवनेश्वर की इस गेंद को उन्होंने डीप स्क्वायर लेग की ओर लॉन्ग शॉट में खेला जहां आवेश खान ने बेहतरीन फील्डिंग करते हुए उनका कैच सीधे हाथो में ले लिया।

ड्वेन प्रिटोरियस के इस विकेट के बाद मैदान में साउथ अफ्रीका के अगले खिलाड़ी रासी वेन डर डिसेन आए लेकिन वे भुवनेश्वर की आखरी गेंद का सामना करने के बजाय नॉन स्ट्राइकर क्षेत्र में चले गए और उनकी इसी घटना ने हर किसी को हैरान कर दिया।

दरअसल आवेश द्वारा कैच पकड़े जाने के चलते बावुमा और ड्वेन रन लेने के लिए दौड़े, और दोनो ने छोर भी बदल लिए थे। लेकिन प्रिटोरियस तो आउट हो गए थे।

और पुराने नियमो के अनुसार नए बल्लेबाज को रनर के छोर से ही स्ट्राइक लेना होता है। लेकिन इस साल आईसीसी के बदले गए नए नियमों के अनुसार कैच पकड़ने के बाद नए बल्लेबाज को ही स्ट्राइक पर आना होता है।